Content मोहल्ला

II अपनी भाषा , अपना मंच II

Page 2 of 37

वक़्त के मुसाफिर

आँखों में वो जूनून दिखा जो समंदर डुबो दे उम्मीदों में वो अलख जगा जो घने अँधेरे को चीर दे खुदी को पहचान तू ग़ालिब की बस नहीं है खुदी का सवाल औरो का भी वजूद है तुझी से ये… Continue Reading →

चलो यहाँ से निकलते हैं

काफ़िले का शौक़ था पर घटते क्रम की गिनती जैसे लोग ज़िन्दगी में दहाई से इकाई हो गए भीड़ बनाम अकेलेपन के नफे नुकसान से परे शोक मना लिया न अब शुक्र अदायगी करते हैं ज़िल्लत नही इज़्ज़त मिले जहां… Continue Reading →

कोई इरादा न था

सुनों तुम्हें यूँ देखना और देखते ही रहना आँखों के रास्ते दिल में उतार लेने का कोई इरादा ना था खुद को बेकरार करने का बिन अल्फाज़ इक़रार का कोई इरादा ना था कोई इरादा ना था आम को ख़ास… Continue Reading →

मैं और मेरा वक्त

एहसान होगा तेरा ए वक्त अगर, मुझे मेरे वक्त से मिला दे । वक्त ने कहा तू बडा भोला है। मैने कहा तू बडा बडबोला है।। जब दुनिया न थी तब भी तू था, मगर इतना बता तू क्या माँ… Continue Reading →

इस जीवन

प्रेम को बहुतों ने लिखा है मैं व्याध में लिखूँगा मैं तुम्हारे मन के दर्द को लिखूँगा लम्हों , रिश्ते – नातों से कह दूँगा मिलूँगा उनसे कभी किसी और बरसातों में कह दूँगा की उन्हें फिर कभी मिलूँगा इस… Continue Reading →

मुक्तक

नयन में घोर निद्रा है, फलक पर घर बनाना है जलाकर ज्योति जय की अब, स्वप्न को दृढ़ बनाना है जिजीविषा का हो गर भाव, मृत्यु हार जाती है तमस जीवन में हो हमको, सदा ही मुस्कुराना है -हर्षित दीक्षित

कल आज और कल

कल,आज और कल के लिबास में बैठी हूं, आज मैं खुद को तलाशने की फिराक में बैठी हूं। जो बीत गया है उसे सोच कर उदास सी बैठी हूं, बदल नही सकता जो कल उसे सुधारने की आस में बैठी… Continue Reading →

एकांत

एकांत बुरा नही है, एकांत तो साथी है। बड़े से बग़ीचे में बैठें भवरों को निहारने का सुख है एकांत। तालाबों में कंकड़ मारते हुए डूबकर उस पार को जाना है एकांत। लैपटॉप पर चलती उँगलियों से कलम चलवाने का… Continue Reading →

इन दिनों

तुम लौटते हो बदल जाता है कमरे का रंग दीवार पर अटके फ़्रेम में तुम्हारी न दिखती तस्वीर भी जाने कैसे निखर सी जाती है किसी की नज़रों में नहीं आती तुम्हारे कमरे से कोई आहट और दस्तक की गुंजाइश… Continue Reading →

« Older posts Newer posts »

© 2018 Content मोहल्ला — Powered by WordPress

Theme by Anders NorenUp ↑