Content मोहल्ला

II अपनी भाषा , अपना मंच II

बांधो मत

नहीं,बांधो मत दायरों में लफ़्ज़ों में रिश्तों में मेरी रूह को,मेरेे अहसासों को नहीं ,बांधो मत कोई रिश्ता नहीं कोई नाम भी नहीं खुला रहने दो राहों को चले जाना जब चाहो बन्धन नहीं कोई भी नहीं छटपटाते देखा है… Continue Reading →

आह्वान

ओ दुपहरी, नींद से जागो; सुना है, यह सुना है रात पर पहरे बढ़ेंगे, और दिन पर भी उन्हीं का राज होगा। टूट जाएंगी सभी अवधारणाएं, और बहुमत को पुनः धोखा मिलेगा। जो नज़र आएगा सबसे श्वेतवर्णी, वह ही भीतर… Continue Reading →

कीलें

मेरी चप्पलों में ठुकी हुई हैं कीलें मैं कीलों के साथ इस धरती का चक्कर लगा रहा हूँ मेरी गर्दन में एक झोला टंगा है मुझे हर जगह दिखाई दे रही है कीलें बित्ते भर की जगह खाली नहीं है… Continue Reading →

एक लड़की है जो !

एक लड़की है जो मुझसे गुस्सा है मुख़्तसर सा यह किस्सा है एक लड़की है जो मुझसे गुस्सा है कैसे बोलूं कौन थी वो मेरे दिल में मौन थी वो पहले पहल वो हँसती थी मस्ती में कुछ कुछ कहती… Continue Reading →

सपने में प्रपोज़ल

सरस्वती पूजा की तैयारी पूरी हो गयी थी । पंडित जी आ चुके थे बाकी था तो बस कुलपति जी का आना. पूरा हॉस्टल फूलों से सज़ा हुआ था कॉमन हॉल में बैठे छात्र अपने अतिथि के आने की प्रतीक्षा… Continue Reading →

बाहर रहने के पाँचवें साल

बाहर रहने के पाँचवें साल आप महसूस करते हैं कि अब खरीद लिया जाए कपड़े धोने का ब्रश धोबी की धुलाई से जल्दी खराब हो जाते हैं अच्छे कपड़े। बाहर रहने के पाँचवें साल आप जान जाते हैं कि प्याज… Continue Reading →

प्रेमपत्र

रातों में भरा है जाने कितना प्रेम ना जाने कबसे कि इस दुनिया का पहला प्रेमपत्र भी लिखा गया होगा रात में ही यूँ प्रेमपत्र रात-भूमि की आदिम फ़सल हैं और प्रेमी स्वभावत: किसान हैं रातें पिछले किसी जन्म में… Continue Reading →

नज़्म

कभी तुमको फुर्सत से ग़र सोचता हूँ तो लगता है यूँ जैसे तुम वो परी हो जो भेजी गई हो हक़ीक़त की दुनिया मे लोगो को जादू से वाकिफ़ कराने. तुम्ही हो वो लड़की कि जिसकी वजह से कई प्रेम… Continue Reading →

इंटरव्यू

आज उसकी जिंदगी का सबसे खास पल था।अपने सपने को वो पाने जा रही थी।हमेशा की तरह शांत और गंभीर रहने वाली कुहू आज नर्वस भी थी। जैसे ही पता चला कि उसका नम्बर सेकंड शिफ्ट में है, उसने थोड़ी… Continue Reading →

« Older posts

© 2019 Content मोहल्ला — Powered by The Sociyo

Up ↑